तुरई खाने के फायदे और नुकसान Turai Khane Ke Fayde or Nuksan in Hindi

तुरई के बारे में – About Zucchini

आज हम आपको तुरई खाने के फायदे और नुकसान के बारे में बताने जा रहे है। तुरई का नाम सबने सुना होगा यह एक सब्जी है। तुरई खाने के फायदे और नुकसान बहुत है इसका सेवन बहुत कम लोगो के द्वारा किया जाता है। इसको हम अलग अलग नाम से भी जान सकते है जैसे तुरई , तोरई , तोरी। तुरई का “वैज्ञानिक नाम “Luffa acutangula” है । कई जगह पर तुरई को “गिल्की” भी कहा जाता है। भारत के कई राज्यों में तुरई को “झिंग्गी” या “झींगा” भी कहा जाता है।

  1. तुरई के बारे में
  2. तुरई की उत्पति
  3. तुरई के स्वास्थ्य लाभ
  4. तुरई का उपयोग
  5. तुरई की सब्जी बनाने की विधि

तुरई खाने के फायदे और नुकसान के बारे में जानना हमारे लिए बहुत जरूरी है क्यों की यह एक पौष्टिक आहार है। जो हमारे स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में मदद करता है। इसकी सब्जी को बनाने में बहुत ही कम समय लगता है काम समय में बहुत ही स्वादिष्ठ सब्जी का आंनद ले सकते है । तुरई विटामिन C  से होने वाली सभी बीमारियों को दूर करने में मददगार है। यह सब्जी हरे रंग की होती है।

तुरई की उत्पति – Origin of Zucchini

तुरई की पैदावार वर्षा ऋतू में ज्यादा देखने को मिलती है। तुरई का सबसे ज्यादा उत्पादन जापान , चीन , इटली , तुर्की , अर्जेंटीना आदि देशो में होता है।

Benefits and side Effects(disadvantage) of Eating Zucchini in hindi

तुरई के स्वास्थ्य लाभ – Health benefits of Zucchini

  1. तुरई त्वचा के संक्रमण को कम करने और त्वचा रोगों को रोकता है।
  2. खून को शुद्ध करने में तुरई कारगर साबित होती है। यह यकृत के स्वास्थ्य को बढ़ाता है और पोषण करता है और शराब के नशे से जिगर की रक्षा करता है।
  3. तुरई के रस का उपयोग पीलिया को ठीक करने और किसी भी संक्रमण के खिलाफ आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने के लिए किया जाता है।
  4. यह त्वचा की देखभाल के लिए अच्छा है, क्योंकि इसमें मौजूद रक्त शुद्ध करने वाले गुण आपको पिंपल्स और मुंहासों से निजात दिलाते हैं।
  5. तुरई अम्लता के साथ-साथ अल्सर का प्रबंधन करने में मदद करती है। यह अच्छी तरह से एक शीतलन एजेंट के रूप में जाना जाता है और पेशाब के दौरान जलन को संभालने में सहायक होता है।
  6. तुरई आहार फाइबर में बेहद समृद्ध है और सभी महत्वपूर्ण तत्वों से समृद्ध है जिसमें विटामिन-सी, जस्ता, लोहा, राइबोफ्लेविन, मैग्नीशियम, थियामिन और अन्य खनिजों के निशान शामिल हैं।
  7. तुरई यह संतृप्त वसा, कोलेस्ट्रॉल और कैलोरी में कम है जो वजन घटाने में सहायक है।
  8. तुरई में अच्छी मात्रा में सेल्युलोज और पानी की मात्रा अधिक होती है जो कब्ज से राहत दिलाने में मदद करती है।
  9. इसमें पेप्टाइड्स और अल्कलॉइड जैसे इंसुलिन होते हैं जो रक्त और मूत्र में शर्करा के स्तर को कम करने में मदद करते हैं।
  10. तुरई बीटा-कैरोटीन में उच्च है जो आंखों की दृष्टि को बढ़ाने के लिए अच्छा है।

तुरई का उपयोग – How to Use Zucchini

  1. तुरई की सब्जी
  2. तुरई का आचार
  3. तुरई का सूप
  4. तुरई की कढ़ी
  5. तुरई के बीज का गुद्दा
  6. तुरई के सूखे पत्तो का पाउडर
  7. तुरई की बेल में लगने वाले फूल के पकौड़े

तुरई की सब्जी बनाने की विधि – How to make Zucchini vegetable

  1. तुरई की सब्जी बनाने के लिए हमे सबसे पहले तुरई को छिल लेना चाहिए।
  2. तुरई को छिलने के बढ़ अच्छे से धो लेना चाहिए और छोटे छोटे टुकड़ो में काट लेना चाहिए।
  3. इसके बढ़ कढ़ाई में तेल गरम करना चाहिए जब तेल गरम हो जाए तो उसमे जीरा , और थोड़ी सी हींग डालनी चाहिए।
  4. इसके बाद तुरई डालनी चाहिए और उसमे नमक और हल्दी डालकर अच्छे से मिलाना चाहिए इसके बाद थोड़ा सा पानी डालकर उसको पकने देना चाहिए जब तक की तुरई पक न जाए।
  5. तुरई को पकने के बाद उसमे मिर्ची और धनिया डालकर अच्छे से मिलाना चाहिए।
  6. हमारी तुरई की सब्जी बनकर तैयार है | इसे हम गरम रोटी के साथ सर्व कर सकते है।

Related posts you may like

© Copyright 2021 NewsTriger - All Rights Reserved.