महात्मा गाँधी की जीवनी Biography of Mahatma Gandhi in Hindi

महात्मा गाँधी की जीवनी Biography of Mahatma Gandhi in Hindi

महात्मा गांधी के बारे में – About Mahatma Gandhi

महात्मा गांधी ब्रिटिश शासन के खिलाफ और दक्षिण अफ्रीका में भारत के अहिंसक स्वतंत्रता आंदोलन के नेता थे जिन्होंने भारतीयों के नागरिक अधिकारों की वकालत की थी। भारत के पोरबंदर में जन्मे गांधी ने कानून का अध्ययन किया और सविनय अवज्ञा के शांतिपूर्ण रूपों में ब्रिटिश संस्थानों के खिलाफ बहिष्कार का आयोजन किया। वह 1948 में एक कट्टरपंथी द्वारा मारा गया था। मोहनदास करमचंद गांधी का जन्म 2 अक्टूबर, 1869 को पश्चिमी भारत के समुद्री तट पर गुजरात के एक छोटे से शहर पोरबंदर में हुआ था। उनका जन्म प्रशासकों के विशिष्ट परिवार में हुआ था। उनके दादा पोरबंदर के दीवान या प्रधान मंत्री बन गए थे और उनके पिता करचंद गांधीजी ने उनका उत्तराधिकारी बनवाया था। एक धार्मिक व्यक्ति हिस माँ पुतलीबाई का युवा मोहन के चरित्र को ढालने में बड़ा योगदान था।

Education of mahatma gandhi – महात्मा गाँधी की शिक्षा

1. मोहनदास करमचंद गांधी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को ब्रिटिश भारतीय साम्राज्य में काठियावाड़ एजेंसी के तत्कालीन पोरबंदर में एक हिंदू मोद बनिया परिवार में हुआ था। उनके पिता करमचंद उत्तमचंद गांधी ने पोरबंदर राज्य के दीवान (मुख्यमंत्री) के रूप में काम किया। उनकी माँ पुतलीबाई करमचंद की चौथी पत्नी थीं। मोहनदास की दो बड़ी सौतेली बहनें और तीन बड़े भाई-बहन थे।
2. उनकी माँ एक अत्यंत धार्मिक महिला थीं, जिनका युवा मोहनदास पर बहुत प्रभाव था। हालांकि जैसे-जैसे वह बड़ा हुआ, उसने एक विद्रोही लकीर विकसित की और अपने परिवार के कई मानदंडों को धता बता दिया। उन्होंने शराब पीना और मांस खाना शुरू कर दिया, जो उनके पारंपरिक हिंदू परिवार में कड़ाई से प्रतिबंधित गतिविधियां थीं।
3. वह स्कूल में एक औसत दर्जे का छात्र था, हालांकि उसने कभी-कभी पुरस्कार और छात्रवृत्ति जीती। उन्होंने 1887 में बॉम्बे विश्वविद्यालय की मैट्रिक परीक्षा पास की और भावनगर के समलदास कॉलेज में दाखिला लिया।
4. 1888 में, उन्हें लंदन के इनर टेम्पल में कानून का अध्ययन करने का अवसर मिला। इस प्रकार उन्होंने सामलदास कॉलेज छोड़ दिया और अगस्त में इंग्लैंड चले गए। वहाँ उन्होंने बैरिस्टर बनने के इरादे से कानून और न्यायशास्त्र का अध्ययन किया।
5. इंग्लैंड में रहते हुए उन्हें एक बार फिर अपने बचपन के मूल्यों की ओर आकर्षित किया गया, जिसे उन्होंने एक किशोर के रूप में त्याग दिया था। वह शाकाहारी आंदोलन से जुड़े और थियोसोफिकल सोसाइटी के सदस्यों से मिले जिन्होंने धर्म में उनकी रुचि को बढ़ाया।
6. उन्होंने अपनी पढ़ाई सफलतापूर्वक पूरी की और जून 1891 में बार में बुलाए गए। वह फिर भारत लौट आए।

दक्षिण अफ्रीका में गांधी – Gandhi in South Africa

गांधी ने वकील के रूप में काम खोजने के लिए संघर्ष किया। 1893 में, दादा अब्दुल्ला, एक व्यापारी जो दक्षिण अफ्रीका में एक शिपिंग व्यवसाय के मालिक थे, ने पूछा कि क्या वह दक्षिण अफ्रीका में अपने चचेरे भाई के वकील के रूप में सेवा करना चाहते हैं। गांधी ने सहर्ष प्रस्ताव स्वीकार कर लिया और दक्षिण अफ्रीका चले गए, जो उनके राजनीतिक करियर में एक महत्वपूर्ण मोड़ था।

दक्षिण अफ्रीका में, उन्हें अश्वेतों और भारतीयों के प्रति नस्लीय भेदभाव का सामना करना पड़ा। उन्हें कई मौकों पर अपमान का सामना करना पड़ा लेकिन उन्होंने अपने अधिकारों के लिए लड़ने का मन बना लिया। इसने उन्हें एक कार्यकर्ता के रूप में बदल दिया और उन्होंने उन कई मामलों को उठाया, जो दक्षिण अफ्रीका में रहने वाले भारतीयों और अन्य अल्पसंख्यकों को लाभान्वित करेंगे। भारतीयों को फ़ुटपाथ पर वोट देने या चलने की अनुमति नहीं थी क्योंकि वे विशेषाधिकार यूरोपीय लोगों के लिए कड़ाई से सीमित थे। गांधी ने इस अनुचित व्यवहार पर सवाल उठाया और अंततः 1894 में ‘नटाल इंडियन कांग्रेस’ नामक एक संगठन स्थापित करने में कामयाब रहे। उनके बाद ‘तिरुकुरल’ नामक एक प्राचीन भारतीय साहित्य आया, जो मूल रूप से तमिल में लिखा गया था और बाद में कई भाषाओं में अनुवाद किया गया था, गांधी थे सत्याग्रह के विचार (सत्य के प्रति समर्पण) से प्रभावित और 1906 के आसपास अहिंसक विरोध को लागू किया। दक्षिण अफ्रीका में 21 साल बिताने के बाद, जहां उन्होंने नागरिक अधिकारों के लिए लड़ाई लड़ी, वे एक नए व्यक्ति में बदल गए और 1915 में भारत लौट आए। ।

सार्वजनिक आंदोलनों में पहल – Initiation into Public Movements

वे लगभग दो वर्षों तक भारत में रहे और 1893 में दादा अब्दुल्ला एंड कंपनी की ओर से मुकदमा लड़ने के लिए वे दक्षिण अफ्रीका गए। यह वह जगह थी, जिसने गांधी के जीवन और भारत के इतिहास को बदल दिया। प्रथम श्रेणी के रेल डिब्बे में यात्रा करते समय, गांधी को रेलवे अधिकारियों ने सिर्फ इसलिए बाहर निकाल दिया क्योंकि एक श्वेत व्यक्ति ने प्रथम श्रेणी के डिब्बे में उनकी उपस्थिति पर आपत्ति जताई थी। इस और इस तरह की कुछ अन्य घटनाओं ने गांधी को महसूस कराया कि शांत रहने से कोई अच्छा नहीं होगा। वह उन सभी भारतीयों के कारण उठ खड़ा हुआ, जो वहां रोज अपमानित हो रहे थे। दक्षिण अफ्रीका में भारतीय लोगों के कारण के लिए लड़ने के बाद, वह 1915 में भारत लौट आए। लेकिन वह वही आदमी नहीं था जिसने भारत छोड़ा था।

भारत की आजादी के लिए गांधी का संघर्ष – Gandhi’s Struggle for India’s Independence

स्थायी रूप से भारत लौटने के बाद, उन्होंने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में शामिल होने के बाद स्वतंत्रता के लिए अपना संघर्ष शुरू किया। वे भारत में मुद्दों, राजनीति और भारतीय लोगों द्वारा सामना की जाने वाली समस्याओं से परिचित हुए। जल्द ही, वह कांग्रेस के एक प्रमुख नेता बन गए। देश के लिए स्वतंत्रता प्राप्त करने के लिए, गांधी ने कई आंदोलनों की शुरुआत की जिससे उन्हें अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद मिली।

असहयोग आंदोलन – Non-Cooperation Movement

गांधी ने ब्रिटिश राज के खिलाफ अपने संघर्ष के दौरान “असहयोग”, “अहिंसा” और “शांति” के अपने हथियार लॉन्च किए। यह आंदोलन अमृतसर में जलियांवाला बाग हत्याकांड को लेकर एक आक्रोश के रूप में उभरा। गांधी ने ब्रिटिश सरकार को इस आंदोलन के तहत स्वराज या स्व सरकार देने के लिए प्रेरित किया। तुर्की के विघटन के बाद प्रथम विश्व युद्ध के खिलाफ मुस्लिम अभियान को उनके समर्थन से आंदोलन को बल मिला

दांडी मार्च – Dandi March

भारत की आजादी के लिए संघर्ष में एक और महत्वपूर्ण घटना 12 मार्च 1930 से शुरू हुई। दांडी नमक मार्च ने सविनय अवज्ञा आंदोलन शुरू कर दिया और ब्रिटिश सरकार के लिए एक सीधी चुनौती साबित हुई। मार्च साबरमती आश्रम से दांडी गांव, नवसारी शहर तक शुरू हुआ। महात्मा गांधी ने ब्रिटिश सरकार को कर का भुगतान किए बिना दांडी में नमक का उत्पादन किया। उनके अभियान में लाखों भारतीयों का समर्थन किया गया।

सत्याग्रह – Satyagraha

अहिंसक कार्यों की समग्र प्रक्रिया को महात्मा गांधी द्वारा सत्याग्रह के रूप में जाना जाता था। उनके लिए, सत्याग्रह अहिंसा का प्रकोप था। उन्होंने दक्षिण अफ्रीका में अपने संघर्षों के दौरान पहली बार इस शब्द का इस्तेमाल किया। उन्होंने भारत के लिए स्वतंत्रता हासिल करने के लिए ब्रिटिशों के खिलाफ अपने संघर्ष में इसे एक प्रमुख उपकरण के रूप में इस्तेमाल किया। पहला सत्याग्रह अभियान 1917 में चंपारण में किसानों के लिए शुरू किया गया था। इस आर्थिक बहिष्कार और सत्याग्रह के औजार के रूप में उपवास के बाद यह पहला अभियान था।

महिलाओं पर गांधी के विचार – Gandhi’s Views on Women

महात्मा गांधी ने न केवल भारत में राजनीतिक मुक्ति के लिए काम किया, बल्कि उन्होंने समान रूप से विश्वास किया और समाज के दबे-कुचले और दबे-कुचले वर्ग की बेहतरी और मुक्ति की दिशा में काम किया। महिलाओं के जागरण के प्रति उनके कार्य और जोर ने न केवल महिला वर्ग के जीवन में प्रकाश डाला, बल्कि उनके भीतर आत्मसम्मान और प्रतिष्ठा को भी जन्म दिया। वह समाज की महिलाओं की ऐसी हठधर्मिता के खिलाफ थे जैसे बाल विवाह, पुरदाह व्यवस्था, सती आदि।

महात्मा गाँधी के पुरस्कार और उपलब्धियाँ – Awards & Achievements of mahatma gandhi

1. रवींद्रनाथ टैगोर, एक महान भारतीय पुलिस, मोहनदास करमचंद गांधी को “महात्मा” (संस्कृत में “उच्च-प्रतिष्ठित” या “आदरणीय”) की उपाधि से सम्मानित करते हैं।
2. ‘टाइम’ पत्रिका ने 1930 में गांधी को मैन ऑफ द ईयर नामित किया था।
3. गांधी को 1937 और 1948 के बीच पांच बार नोबेल शांति पुरस्कार के लिए नामांकित किया गया था, हालांकि उन्हें कभी पुरस्कार से सम्मानित नहीं किया गया था। नोबेल समिति ने सार्वजनिक रूप से दशकों बाद चूक के लिए खेद व्यक्त किया।

Facts and Information of Mahatma Gandhi

जन्म – मोहनदास करमचंद गांधी 2 अक्टूबर 1869 पोरबंदर, पोरबंदर राज्य, काठियावाड़ एजेंसी, ब्रिटिश भारत (वर्तमान गुजरात, भारत)
निधन – 30 जनवरी 1948 (आयु 78 वर्ष)नई दिल्ली, दिल्ली, भारत का प्रभुत्व (वर्तमान भारत)
मौत की वजह – हत्या
स्मारक – राज घाट, गांधी स्मृति – राष्ट्रीयता भारतीय
अन्य नाम – महात्मा गांधी, बापू जी, गांधी जी
कानून के शिक्षा स्नातक – अल्मा मेटर यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन
भीतर का मंदिर – व्यवसाय
माता-पिता – करमचंद गांधी (पिता), पुतलीबाई गांधी (मां)
पेशे – वकील, राजनीतिज्ञ, कार्यकर्ता, लेखक
पति / पत्नी – कस्तूरबा गांधी
बच्चे – हरिलाल गांधी, मणिलाल गांधी, रामदास गांधी और देवदास गांधी

गांधी जी से संबंधित प्रश्न और उत्तर – Question and Answer Related to Gandhi ji

Q. गांधीजी पहली बार केरल कब गए थे?
उत्तर: 1920

Q. किस वर्ष महात्मा गांधी ने पहली बार तमिलनाडु (मद्रास) का दौरा किया था?
उत्तर: 1896

Q. गांधी पहली बार कर्नाटक कब गए थे?
उत्तर: 1915 में

1. गांधीजी का जन्म कब हुआ था?
उत्तर: 1869 अक्टूबर 2 में

2. गांधीजी कानून का अभ्यास करने के लिए दक्षिण अफ्रीका कब गए थे?
उत्तर: 1893 में

3. गांधीजी के पहले सत्याग्रह का प्रयोग कहाँ हुआ था?
उत्तर: 1906 में दक्षिण अफ्रीका, भारतीयों के खिलाफ ट्रांसवाल में जारी एशियाटिक अध्यादेश के विरोध में

4. गांधीजी की पहली कैद कब थी?
उत्तर: 1908 में दक्षिण अफ्रीका के जोहान्सबर्ग में

5. गांधीजी को किस रेलवे स्टेशन पर अपमानित और बेदखल किया गया था?
उत्तर: पीटर मैरिट्स साउथ रेलवे स्टेशन साउथअफ्रीका में

6. गांधीजी ने टॉलस्टॉय फार्म (दक्षिणअफ्रीका) की शुरुआत कब की थी?
उत्तर: 1910 में

7. गांधीजी ने फीनिक्स सेटलमेंट की शुरुआत कहां की थी?
उत्तर: दक्षिण अफ्रीका में डरबन

8. दक्षिणअफ्रीका में गांधीजी द्वारा कमजोर रूप से शुरू किया गया नाम क्या है?
उत्तर: भारतीय मत (1904)

9. गांधीजी दक्षिण अफ्रीका से भारत कब लौटे?
उत्तर: 9 जनवरी 1915 को।

10. भारत में गांधीजी का पहला सत्याग्रह कहाँ हुआ था?
उत्तर: यह 1917 में चंपारण में इंडिगो श्रमिकों के अधिकार के लिए था

11. गांधीजी का पहला उपवास (भारत में गांधीजी का दूसरा सत्याग्रह) कहां था?
उत्तर: अहमदाबाद में

12. किस वजह से गांधीजी ने कैसर-आई-हिंद की उपाधि त्याग दी?
उत्तर: जलियांवालाबाग नरसंहार (1919)

13. यंग इंडिया और नवजीवन के नाम से सप्ताह की शुरुआत किसने की?
उत्तर: महात्मा गांधी

14. गांधीजी की अध्यक्षता में एकमात्र कांग्रेस सत्र कौन सा है?
उत्तर: 1924 में बेलगाम में कांग्रेस का अधिवेशन

15. 1932 में अखिल भारतीय हरिजन समाज की शुरुआत किसने की?
उत्तर: महात्मा गांधी

16. वर्धा आश्रम कहाँ स्थित है?
उत्तर: महाराष्ट्र में

17. गांधीजी ने साप्ताहिक हरिजन की शुरुआत कब की?
उत्तर: 1933 में

18. गांधीजी ने सुभाष चंद्र बोस को _________ कहा?
उत्तर: पैट्रियट

19. गांधीजी को “हाफ न्यूड सेडिटियस फकीर” कहा जाता था?
उत्तर: विंस्टन चर्चिल ने

20. टैगोर को v गुरुदेव ’नाम किसने दिया?
उत्तर: महात्मा गांधी

21. गांधीजी को ji महात्मा ’किसने कहा था?
उत्तर: टैगोर

22. गांधीजी के राजनीतिक गुरु कौन हैं?
उत्तर: गोपाल कृष्ण गोखले

23. गांधीजी के आध्यात्मिक गुरु के रूप में किसे माना जाता है?
उत्तर: लियो टॉल्स्टॉय

24. गांधीजी की हत्या कब हुई?
उत्तर: 1948 30 जनवरी को नाधूराम विनायक गोडसे द्वारा

25. गांधीजी ने ‘पोस्ट डेटेड चेक’ के रूप में क्या कहा था?
उत्तर: क्रिप्स मिशन (1942)

26. गांधीजी ने Sw हिंद स्वराज ’का प्रकाशन कब किया?
उत्तर: वर्ष 1908 में

27. बाबा आमता को ‘अभय साधक’ की उपाधि किसने दी?
उत्तर: महात्मा गांधी

28. वह अवधि जिसे भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में h गांधीवादी युग ’माना जाता है?
उत्तर: 1915 – 1948

29. भारत में गांधीजी का तीसरा सत्याग्रह कहाँ था?
उत्तर: खेड़ा सत्याग्रह

30. गांधी की आत्मकथा का वास्तविक नाम क्या है?
उत्तर: सत्य ना प्रयाग

31. गांधी की आत्मकथा में किस अवधि को संदर्भित किया गया है?
उत्तर: 1869 – 1921

32. गांधी जी की आत्मकथा पहली बार कब प्रकाशित हुई?
उत्तर: 1927 (नवजीवन में)

33. गांधीजी ने अपनी आत्मकथा किस भाषा में लिखी थी?
उत्तर: गुजराती

34. गांधी की आत्मकथा का अंग्रेजी में अनुवाद किसने किया?
उत्तर: महादेव देसाई

35. सत्याग्रह सभा की स्थापना किसने की?
उत्तर: महात्मा गांधी

36. महादेव देसाई के निधन के बाद महात्मा गांधी के सचिव कौन थे?
उत्तर: प्यारेलाल

37. गांधीजी की शिष्या मीरा बेहन का वास्तविक नाम क्या है?
उत्तर: मैडेलीन स्लेड

38. गांधी की दांडी मार्च की तुलना श्री राम की लंका यात्रा से किसने की?
उत्तर: मोतीलाल नेहरू

39. फ्रंटियर गांधी के नाम से किसे जाना जाता है?
उत्तर: खान अब्दुल गफ्फार खान

40. बिहार गांधी के रूप में किसे जाना जाता है?
उत्तर: डॉ राजेंद्र प्रसाद

41. आधुनिक गांधी के रूप में किसे जाना जाता है?
उत्तर: बाबा आमटे

42. श्रीलंका के गांधी के रूप में किसे जाना जाता है?
उत्तर: ए.टी. Ariyaratne

43. अमेरिकी गांधी के नाम से किसे जाना जाता है?
उत्तर: मार्टिन लूथर किंग

44. बर्मी गांधी के नाम से किसे जाना जाता है?
उत्तर: जनरल आंग सान

45. अफ्रीकी गांधी के रूप में किसे जाना जाता है?
उत्तर: केनेथ कौंडा

46. ​​दक्षिण अफ्रीकी गांधी के रूप में किसे जाना जाता है?
उत्तर: नेल्सन मंडेला

47. केन्या गांधी के रूप में किसे जाना जाता है?
उत्तर: जोमो केन्याटा

48. इंडोनेशियाई गांधी के नाम से किसे जाना जाता है?
उत्तर: अहमद सुकर्णो

49. “गांधी के शब्द” पुस्तक किसने लिखी है?
उत्तर: महात्मा गांधी

50. “अहिंसा पर गांधी” का लेखन किसने किया है?
उत्तर: थॉमस मर्टन

Tags:
mahatma gandhi essay,mahatma gandhi biography,mahatma gandhi information,mahatma gandhi history, About Mahatma Gandhi, mahatma gandhi books,mahatma gandhi wikipedia,mahatma gandhi death,mahatma gandhi son, Awards & Achievements of mahatma gandhi, mahatma gandhi facts,mahatma gandhi video,mahatma gandhi hindi, Gandhi’s Struggle for India’s Independence,