चुकंदर खाने के फायदे Beetroots Benefits in hindi

About Beetroot – चुकंदर के बारे में

चुकंदर, जिसे बीट्स के रूप में जाना जाता है, दुनिया भर के कई व्यंजनों में इस्तेमाल की जाने वाली एक लोकप्रिय जड़ की सब्जी है। यह अपने जीवंत बैंगनी-लाल रंग के लिए जाना जाता है, जो बीटालेंस नामक रंगद्रव्य से आता है। चुकंदर खाने के फायदे बहुत है क्यों की इसमें बहुत सारा आयरन, कैल्शियम, विटामिन, मिनरल्स और भी बहुत सारे पोषक तत्व होते है। जिसे हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा माना जाता है।

चुकंदर की सबसे आम किस्म का आकार गोल या बल्बनुमा होता है, लेकिन बेलनाकार और लम्बी किस्म भी होती हैं। यह ज्यादातर लोगो को खाने में अच्छा नहीं लगता लेकिन अगर हम इसका हलवा बनाकर खाए तो स्वादिष्ठ लगता है। चुकंदर को हम हमारी नियमित दिनचर्या में भी शामिल कर सकते है। इसमें सब्जी के रूप में काम में ले सकते है। यह आसानी से ठेलो पर या सब्जी मंडी में मिल जाता है। सर्दियों के दिनों में यह अधिक मात्रा में खाया जाता है यह स्किन के लिए बहुत फायदेमंद होता है

Origin of Beetroots –

  • चुकंदर, जिसे वैज्ञानिक रूप से बीटा वल्गेरिस के नाम से जाना जाता है।
  • चुकंदर की उत्पत्ति का पता भूमध्यसागरीय क्षेत्र से लगाया जा सकता है।
  • प्रारंभ में, चुकंदर की खेती मुख्य रूप से उनके साग के लिए की जाती थी, जो खाने योग्य और पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं।
  • प्राचीन रोमन और यूनानियों को चुकंदर की खेती करने के लिए जाना जाता ह।
  • रोमन युग में, चुकंदर का उपयोग मुख्य रूप से इसकी पत्तियों के लिए किया जाता था, और जड़ उतनी लोकप्रिय नहीं थी।
  • 16वीं शताब्दी तक, पूरे यूरोप में चुकंदर की व्यापक रूप से खेती की जाने लगी और वे यूरोपीय व्यंजनों का प्रमुख हिस्सा बन गए।
  • 19वीं शताब्दी तक, चुकंदर उत्तरी अमेरिका तक पहुंच गया था और इसे एक बहुमुखी सब्जी के रूप में अपनाया गया था।
  • आज, चुकंदर दुनिया भर के विभिन्न मौसमों में उगाया जाता है ।

चुकंदर खाने के फायदे और नुकसान – Benefits and side effects of Eating Beetroots in hindi

Benefits of eating चुकंदर खाने के फायदे

  • चुकंदर उच्च रक्तचाप को कम कर सकता है
  • चुकंदर वसा और कैलोरी में कमी करता है
  • चुकंदर में फोलेट, फाइबर, विटामिन सी और अन्य खनिज तत्व पाए जाते है
  • चुकंदर एथलेटिक प्रदर्शन में सुधार कर सकता है
  • चुकंदर से सूजन से लड़ने में मदद मिल सकती है
  • चुकंदर एक एंटी-कैंसर गुण है
  • चुकंदर हृदय रोग से पीड़ित लोगों की मदद कर सकता है
  • चुकंदर हमारे शरीर की मांसपेशियों में वृद्धि करता है
  • चुकंदर खाने से पोटैशियम का स्तर ठीक रहता है
  • चुकंदर एक स्वस्थ गर्भावस्था को बढ़ावा दे सकता है
  • चुकंदर पाचन स्वास्थ्य में सुधार कर सकता है
  • चुकंदर वजन कम करने को बढ़ावा देता है
  • अपने भोजन में शामिल करने के लिए स्वादिष्ट आहार है
  • चुकंदर वास्तव में गुच्छे और खुजली वाली खोपड़ी से लड़ने के लिए सबसे अच्छे घरेलू उपचारों में से एक है
  • चुकंदर सांस की समस्याओं को रोकता है
  • चुकंदर त्वचा के लिए लाभकारी है
  • चुकंदर के पत्ते भी खून की कमी को दूर करने में बहुत ही उपयोगी होते हैं.
  • डायबिटीज के रोगियों के लिए चुकंदर बहुत लाभदायक होता है.
  • चुकन्दर का जूस पीने से व्यक्ति का स्टैमिना 16 प्रतिशत तक बढ़ जाता है. शरीर में ऑक्सीजन बढ़ने से दिमाग भी ठीक प्रकार से अपना काम कर पाता है.
  • चुकंदर के सेवन से ना केवल मीठा खाने की आदत को शांत किया जा सकता है बल्कि इसे खाने से आप चुस्त और दुरुस्त भी होते हैं

Side effects of eating Beetroots-चुकंदर खाने के नुकसान

  • चुकंदर हमारे गुर्दे पर सबसे ज्यादा प्रभाव डालता है
  • चुकंदर एक ऐसी स्थिति पैदा कर सकता है जिसे मेलेना कहा जाता है, जो परिवर्तित रक्त की उपस्थिति से टार या काले मल को संदर्भित करता है
  • चुकंदर अचानक रक्तचाप के स्तर में गिरावट कर देता है
  • चुकंदर खाने से गर्भावस्था के दौरान समस्या आने लगती है
  • चुकंदर खाने से गर्भावस्था के दौरान समस्या आने लगती है
  • चुकंदर खाने से पेट में ख़राबी हो सकती है

How to prepare Beetroot juice – चुकंदर का जूस कैसे बनाये

  • सबसे पहले कटे हुए चुकंदर, सेब, गाजर और अदरक को एक ब्लेंडर में डालें।
  • उसमे ताजा निचोड़ा हुआ नींबू या नीबू का रस मिलाएं।
  • अब इसमें थोड़ी मात्रा में पानी मिलाएं।
  • इसको जूसर में अच्छे से पीस ले
  • यदि रस बहुत गाढ़ा है, तो आप अपनी इच्छा के अनुसार अधिक पानी मिला सकते हैं।
  • चुकंदर के रस को गिलासों में डालकर सबको पीला दे।

How to make beetroot Halwa चुकंदर का हलवा कैसे बनाये

  • सबसे पहले चुकंदर को छीलकर बारीक कद्दूकस कर लेंगे .
  • एक भारी तले वाले पैन या कड़ाही में 1 बड़ा चम्मच घी गर्म करेंगे।
  • कद्दूकस किया हुआ चुकंदर डालें और मध्यम आंच पर तब तक भूनें जब तक यह नरम न हो जाए और कच्ची गंध गायब न हो जाए।
  • अब दूध डालें और अच्छी तरह मिलाएँ।
  • मिश्रण को धीमी से मध्यम आंच पर पकाएगे जब तक कि चुकंदर दूध को सोख न ले और मिश्रण गाढ़ा न हो जाए।
  • तली में चिपकने से रोकने के लिए बीच-बीच में हिलाते रहें।
  • जब चुकंदर पक जाए और मिश्रण गाढ़ा हो जाए तो इसमें चीनी मिलाएं। तब तक पकाते और हिलाते रहें जब तक कि चीनी घुल न जाए और हलवा हलवे जैसी स्थिरता तक न पहुंच जाए।
  • बचा हुआ घी डालें और अच्छी तरह मिलाएँ। इससे हलवे में भरपूर स्वाद आ जाता है।
  • हलवे में इलायची पाउडर और केसर के धागे डाले। स्वाद शामिल करने के लिए अच्छी तरह मिलाएं।
  • एक अलग पैन में कटे हुए मेवे हल्का सा भून लें. इन्हें किशमिश के साथ हलवे में मिला दीजिये. अच्छी तरह से हिलाएं

Related posts you may like

© Copyright 2024 NewsTriger - All Rights Reserved.